लाइबेरिया

लाइबेरिया में किशोरियाँ

लाइबेरिया में किशोरियाँ युवा लोगों की एक पीढ़ी का वो हिस्सा हैं जो मूलभूत सेवाओं तथा अवसरों तक पहुँच के बिना पली-बढ़ीं। 14-वर्ष के गृह युद्ध के कारण कई लड़कियों को शिक्षा प्राप्त नहीं हुई और अब परिवार प्राय: आवश्यक यूनिफॉर्म और विद्यालय संबंधी अन्य सामग्री का खर्च नहीं उठा पाते। इस संघर्ष में स्वास्थ्य सेवा पद्धति को भी गंभीर नुकसान पहुंचा और अब वहाँ किशोरियों के लिए लगभग न के बराबर स्वास्थ्य क्लिनिक हैं। एक ऐसा देश जो पुन: विकास की ओर बढ़ रहा है वहां सुरक्षा हमेशा एक महत्वपूर्ण मुद्दा रहता है और लाइबेरिया में लड़कियों को व्यापक हिंसा का सामना करना पड़ता है।

Girl Up लाइबेरिया में क्या कर रहा है?

Girl Up संयुक्त राष्ट्र की एजेंसियों - UNICEF, WHO, UNFPA और UNESCO द्वारा संचालित एक व्यापक कार्यक्रम का वित्तपोषण करता है – जो निम्नलिखित द्वारा यह सुनिश्चित करने के लिए सबसे कठिन पहुँच वाली किशोरियों के साथ काम करता है कि वे एक आय अर्जित कर सकें, स्वस्थ रह सकें और नुकसान पहुंचाने वाली पारंपरिक प्रथाओं से बच सकें:

  • भविष्य के लिए साधन उपलब्ध कराना

    • यह कार्यक्रम लड़कियों की शिक्षा के लिए समर्थकों को बढ़ावा देता है जो लड़कियों की विद्यालय में उपस्थिति बढ़ाएँगे और अभिभावकों तथा अध्यापकों के साथ PTA समूह बना कर स्थानीय नामांकन तथा लड़कियों को विद्यालय शिक्षा जारी रखने की स्थिति में सुधार करंगे। विद्यालय नहीं जाने वाली लड़कियों को उनका स्वयं का व्यापार चलाने और उनकी अर्जन क्षमता बढ़ाने संबंधी प्रशिक्षण दिया जाता है।
  • लड़कियों के लिए अनुकूल स्वास्थ्य सेवाएँ देना

    • संवेदनशील प्रजनन स्वास्थ्य जानकारी तक पहुँच बढ़ाने के लिए बड़ी उम्र की किशोरियों को उनकी कम उम्र की साथियों के लिए यौन स्वास्थ्य शिक्षकों के रूप में काम करने के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है। इसके अतिरिक्त विद्यालय और क्लिनिक सुरक्षित वातावरण बना रहे हैं जहां लड़कियां स्वास्थ्य-संबंधी प्रश्न पूछने में आरामदायक महसूस कर सकें।
  • नुकसान पहुंचाने वाली पारंपरिक प्रथाओं को समाप्त करना

    • इस कार्यक्रम में महिलाओं के विरुद्ध हिंसा तथा महिलाओं के यौन अंगों को नुकसान पहुंचाने जैसे मुश्किल विषयों पर सामुदायिक चर्चा के लिए स्थान के रूप में क्लब बनाए जाते हैं। साथ ही कार्यक्रम के आयोजक महिलाओं के यौन अंगों को नुकसान पहुंचाने के प्रतिकूल प्रभावों के संबंध में चर्चा में अग्रणी स्थानीय लोगों को शामिल करते हैं और उन्हें इस प्रथा को समाप्त करने का समर्थन करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।

लाइबेरिया के बारे में

लाइबेरिया गणराज्य पश्चिमी अफ्रीका के तट पर स्थित 3.9 मिलियन लोगों का एक छोटा देश है। लाइबेरिया का इतिहास अद्वितीय है – इसकी स्थापना और उपनिवेशन अमेरिका द्वारा मुक्त किए गए गुलामों द्वारा 1800 के दशक की शुरुआत से मध्य के बीच किया गया था। अंग्रेजी यहाँ की आधिकारिक भाषा है परंतु केवल 20% जनसंख्या अंग्रेजी बोलती है और शेष जनसंख्या लगभग 20 भिन्न जातीय समूह की भाषाएँ बोलती हैं।

लाइबेरिया विश्व के सबसे गरीब देशों मे से एक है। एक गृह युद्ध ने देश में 14 वर्ष तक विनाश किया, न केवल इसकी अर्थव्यवस्था को क्षति पहुंचाई बल्कि स्वास्थ्य सेवा, शिक्षा तथा लोगों के लिए रक्षा सेवाओं को भी नुकसान पहुंचाया। वर्ष 2005 में एलेन जॉनसन सरलीफ ने इतिहास रचा जब वे अफ्रीका की पहली चुनी गई महिला राज्याध्यक्ष बनीं जब उन्हें लाइबेरिया के राष्ट्रपति पद की शपथ दिलाई गई। जॉनसन सरलीफ वर्ष 2011 में छह वर्ष के दूसरे कार्यकाल के लिए पुन: चुनी गईं, वे लाइबेरिया में भ्रष्टाचार को कम करने और लाइबेरिया की अर्थव्यवस्था को आगे ले जाने के लिए काम कर रही हैं।