स्कूल-साइकल

वह अभी भी अलग-अलग स्थानों पर जा रही है। एक बाइक के साथ आप उसे आगे बढ़ने में सहायता कर रहे हैं।

Through the SchoolCycle program, Girl Up aims to help eliminate one of the biggest obstacles keeping girls out of school: distance. एक बाइक के साथ वह शिक्षा प्राप्त कर सकती है जिसकी उसे एक बेहतर भविष्य बनाने के लिए आवश्यकता है।

अभी दान करें

स्कूल-साइकल क्या है?

Launched in 2014, SchoolCycle is a campaign to provide bicycles to girls to help them access education and stay in school. Through the SchoolCycle campaign, Girl Up aims to help eliminate one of the biggest obstacles keeping girls out of school: distance. एक बाइक एक लड़की को विद्यालय आने-जाने की यात्रा शीघ्र तथा सुरक्षित ढंग से करने में सहायता कर सकती है और उसे उसके समुदाय में आजादी से आने-जाने की स्वतन्त्रता देती है। इस प्रकार वह लड़की वह शिक्षा प्राप्त कर सकती है जिसकी उसे अपने आप के लिए, अपने परिवार तथा अपने समुदाय के लिए एक बेहतर भविष्य बनाने हेतु आवश्यकता है।

Together with our partner UNFPA, Girl Up has provided 1,550 bicycles to girls in Malawi and 250 bicycles to girls in Guatemala – and we’re just getting started. Help Girl Up continue to provide a brighter future to more girls the gift of a bike.

स्कूल-साइकल कैसे काम करता है?

$125 के दान से हमारे UN भागीदारों द्वारा चिहनित सर्वाधिक आवश्यकता वाली लड़कियों को बाइक, पूर्जे तथा रखरखाव प्रशिक्षण दिया जा सकता है। Girl Up UN अधिकारियों को भेजने के लिए हमारे समर्थकों से आर्थिक दान एकत्रित करता है जो बाइक खरीदते हैं तथा इनका वितरण करते हैं।

साइकिल क्यों?

एक बाइक वह वाहन है जो एक लड़की के जीवन को बदल सकता है जिससे वह एक बेहतर भविष्य बनाने के लिए आवश्यक शिक्षा प्राप्त कर सकती है। यह उन लड़कियों को उनकी शिक्षा पूरी करने हेतु वापस आने के लिए भी प्रोत्साहन का काम कर सकता है जिन्होंने गर्भधारण, कार्य अथवा व्यय के कारण विद्यालय छोड़ दिया है। ग्वाटेमाला में स्थानीय लड़कियां सामान्यत: सबसे नजदीक के माध्यमिक विद्यालय से कई मील दूर रहती हैं, जिसके कारण उन्हें खतरनाक भूखंडों में लंबी दूरी तक चलना पड़ता है जिससे वे प्राय: यात्रा के दौरान हिंसा अथवा उत्पीड़न के जोखिम में आ जाती है। ग्वाटेमाला में 10 में से छ: स्थानीय लड़कियां 15 वर्ष की आयु से पहले विद्यालय छोड़ देती हैं, और प्राय: वे ऐसा यात्रा मार्ग अत्यधिक लंबा तथा अत्यधिक खतरनाक होने के कारण करती हैं। 

मलावी में एक चौथाई से भी कम लड़कियां प्राथमिक शिक्षा पूरी करती हैं और केवल 9% लड़कियां माध्यमिक विद्यालय से स्नातक होती हैं। लड़कियों को विद्यालय में बने रहने से रोकने का एक प्रमुख कारण गरीबी है, विशेष रूप से माध्यमिक स्तर पर जहां सार्वजनिक विद्यालय में पढ़ने के लिए पैसा व्यय करना पड़ता है। परंतु एक अन्य प्रमुख चुनौती विद्यालय जाने का लंबा मार्ग है जो प्रत्येक दिशा में 10 मील से भी अधिक हो सकता है।


डायना से मिलें, जो आपगे बढने वाली लड़की है

डायना, 12, विद्यालय में बने रहने और एक विद्यालय शिक्षक बनने के लिए प्रतिबद्ध है। उसके अधिकतर दोस्तों ने छठी ग्रेड से आगे विद्यालय की शिक्षा जारी नहीं रखी थी क्योंकि मिडल स्कूल बहुत दूर है, परिवहन व्यय तथा शुल्क बहुत अधिक है और प्रतिदिन अकेले यात्रा करना जोखिमपूर्ण है।

परंतु डायना के पास उसकी शिक्षा जारी रखने का माध्यम है: एक बाइक।

 


हमारे प्रभाव के बारे में और अधिक जानें

जब UN फाउंडेशन के प्रेस सदस्यों जो फॉक्स और लॉरेन बोहन ने वर्ष 2013 में मलावी की यात्रा की उन्हें जल्द ही पता चल गया जिन लड़कियों से वे मिले थे उन्हें साइकिल की आवश्यकता थी।  जिस डिंडे कम्यूनिटी डे सेकंडरी स्कूल का दौरा उन्होंने किया था वह 37 मील की त्रिज्या के क्षेत्र में एकमात्र माध्यमिक विद्यालय था। छात्राएँ प्राय: दिन के अंत में थकाने वाली यात्रा करके घर जाने के बजाय विद्यालय के फर्श पर सोना पसंद करती हैं। जो और लॉरेन की पत्रकारिता में पृष्ठभूमि ने इन लड़कियों की कहानियाँ प्रसारित करने में सहायता की जिसके परिणामस्वरूप Girl Up के साथ उनकी भागीदारी हुई। जहां स्कूल-साइकल प्रसंग मलावी में शुरू हुआ था, यह ग्वाटेमाला में जारी रहा। अधिक जानें।