समर्थन की सफलताएं

Girl Up संगठनों तथा व्यक्तियों के एक समुदाय का हिस्सा है जिन्होंने लड़कियों के अधिकारों के समर्थन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। साथ मिल कर हम उन नीतियों को आगे बढ़ाने में की गई प्रगति तथा उपलब्धियों का उत्सव मनाते हैं जो विकासशील देशों में किशोरियों के कल्याण को प्रोत्साहित करती हैं।

बाल विवाह को रोकना

अमेरिकी विदेश नीति

अंतर्राष्ट्रीय बालिका समुदाय में समर्थन करने वाले लंबे समय से किशोरियों को उनके तैयार होने से पहले विवाह हेतु बाध्य करने से रोकने के लिए और सुरक्षा की मांग कर रहे हैं। मूलभूत रूप से बाल विवाह मानवाधिकारों का उल्लंघन है। यह एक नुकसानदायक प्रथा भी है जो समुदायों तथा अर्थव्यवस्थाओं को पीछे ले जाती है। अनुसंधान दर्शाता है कि जब लड़कियां सुरक्षित, स्वस्थ, शिक्षित तथा सशक्त होती हैं तो वे स्वस्थ बच्चे पैदा करने, अधिक आय अर्जन करने, और अर्थव्यवस्थाओं को आगे बढ़ाने में सहायक होती हैं – जो उन्हें सकारात्मक बदलाव लाने के लिए सशक्त एजेंट बनाता है।

वर्ष 2013 में इस समुदाय ने एक प्रमुख उपलब्धि प्राप्त की जब U.S. कॉंग्रेस ने महिलाओं के विरुद्ध हिंसा संबंधी अधिनियम (VAWA) के तहत शीघ्र तथा जबरन विवाह को रोकने के लिए विदेश नीति अधिनियमित की। Girl Up समर्थकों ने 17,000 ऑनलाइन कार्रवाइयाँ करते हुए और कॉंग्रेस के उनके सदस्यों के साथ कई बैठकें करके इस मुद्दे के समर्थन में प्रदर्शन किया।

Girl Up के प्रयासों को सम्मानित करने के लिए सीनेटर डर्बिन (IL) – जो स्वयं लंबे समय से लड़कियों के अधिकारों के समर्थक रहे हैं – ने हमारे समर्थकों को यह प्रेरणादायी संदेश भेजा:

अब Girl Up यह सुनिश्चित करने के लिए कि इन नीतियों को हमारे विदेशी सहायता कार्यक्रमों के माध्यम से सफलतापूर्वक कार्यान्वित किया जाए, लगातार U.S. सरकार के साथ काम कर रहा है।

मलावी में विवाह की कानूनी आयु को बढ़ाना

मलावी में लगभग आधी लड़कियां 18 वर्ष की आयु की होते-होते विवाहित हो जाती हैं इसलिए यह लड़कियों के अधिकारों को मान्यता देने के लिए एक अत्यधिक आवश्यक कदम है। और हमारे समर्थकों के समुदाय के प्रयासों से हमने मलावी में लड़कियों को बाल विवाह के विरुद्ध खड़े होने में सहायता: फरवरी, 2015 में मलावी ने एक कानून पारित किया जिसमें विवाह की कानूनी आयु 15 वर्ष से बढ़ा कर 18 वर्ष कर दी गई!

लड़कियों के अधिकारों तथा उनकी आवाज को उठाना संयुक्त राष्ट्र, संयुक्त राष्ट्र फाउंडेशन और Girl Up के लिए एक प्रमुख प्राथमिकता है:

  • मलावी में UN फाउंडेशन और Girl Up ने एक संगठन Let Girls Lead को सहयोग किया जो लड़कियों को उनके अधिकारों का समर्थक बनने में सहायता करने के लिए नेतृत्व विकास उपलब्ध कराता है।
  • Let Girls Lead ने लड़कियों को सशक्त बनाने वाले नेटवर्क के साथ भागीदारी की और मलावी में बाल विवाह की समाप्ति के लिए समर्थन में ग्राम प्रधानों तथा अन्य नेताओं के साथ 200 से अधिक लड़कियों को शामिल किया।
  • इसके अतिरिक्त Girl Up मलावी में यह सुनिश्चित करने के लिए कि लड़कियों को स्वास्थ्य तथा शिक्षा प्राप्त हो जिसकी उन्हें आवश्यकता है तथा जिसकी वे हकदार हैं, UN के प्रयासों में सहयोग करता है।

मेमोरी बांडा मलावी की एक लड़की है जिसने वर्ष 2011 से Let Girls Lead और लड़कियों के सशक्तिकरण संबंधी नेटवर्क के साथ काम किया है। उसकी बहन का विवाह 11 वर्ष की आयु में हो गया था, परंतु मेमोरी ने विद्यालय में बने रहने के लिए विवाह की अपेक्षाओं को चुनौती दी। उसने पिछले वर्ष लिखा:

“मैंने अपने परिवार को चुनौती दी और स्पष्ट किया कि जल्दी विवाह करना मेरे लिए ठीक नहीं है। मैंने उन्हें बताया जो सोचते थे कि मुझे जल्दी विवाह कर लेना चाहिए कि शिक्षा और मेरे अधिकारों की स्वतन्त्रता मेरे जीवन का मार्ग होगा। मुझे व्यक्तिगत रूप से उस नजरिए को बदलने की आवश्यकता थी जिससे समाज लड़कियों तथा महिलाओं की आवश्यकताओं को देखता है तथा परिभाषित करता है। सबसे महत्वपूर्ण बात मुझे एक अलग समाज की आवश्यकता थी जो एक लड़की के रूप में मेरी पसंद का सम्मान करे।”

Girl Up लगातार पूरे विश्व के देशों में बाल विवाह को समाप्त करने के लिए अन्य किशोरी समर्थन समूहों के साथ मिल कर काम रहा है।

लड़कियों की गणना

यद्यपि अधिकतर देशों में जन्म पंजीकरण संबंधी कानून हैं, परंतु UNICEF के अनुसार वर्ष 2012 में 10 में से 4 बच्चों के जन्म का पंजीकरण नहीं किया गया। इसका अर्थ है पूरे विश्व में आज ऐसे 290 मिलियन बच्चे रह रहे हैं जिनकी गणना नहीं की गई है। जब किसी लड़की को जन्म प्रमाण-पत्र नहीं दिया जाता तो इसका अर्थ है कि वह उसकी सरकार को दिखाई नहीं देती। दस्तावेज़ न होने से कोई लड़की विद्यालय जाने, जीवन में बाद में रोजगार प्राप्त करने और स्वास्थ्य तथा सामाजिक सेवाएँ प्राप्त करने से वंचित रह सकती है।

यह सुनिश्चित करने के लिए समाधान है कि विश्व में अधिक से अधिक लड़कियों – चाहे वे कहीं भी पैदा हुई हों – की गणना उसी प्रकार की जाए जैसे दूसरों की की जाती है: लड़कियों की गणना संबंधी अधिनियम। जमीनी स्तर के हमारे समर्थकों की कठोर मेहनत के कारण जन्म पंजीकरण के इस मुद्दे पर दो बहस दिनों और कॉंग्रेस के सदस्यों को लड़कियों की गणना का समर्थन करने के लिए कहने हेतु लगभग 400,000 कार्रवाइयों सहित अब विकासशील देशों में ऐसे कार्यक्रमों, जिनसे सभी बच्चों के जन्म के पंजीकरण तथा दस्तावेजन प्रणालियों में सुधार में सहायता मिलती है, में सहयोग करना U.S. सरकार की विदेश नीति में शामिल है।

लड़कियों की गणना

113वीं कॉंग्रेस में U.S. में लड़कियों की गणना शुरू की गई। Rep. द्वारा प्रतिनिधि सदन स्टीव चैबोट और प्रतिनिधि बैटी मैकॉलम और U.S. में सेन. मार्को रूबियों और सेन. जीन शाहीन द्वारा सीनेट इस विधेयक को द्विदलीय पद्धति से दोनों चैंबर में पारित किया गया और इसे 12 जुलाई, 2015 को राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के साथ कानून में बदल दिया गया। अब यह सार्वजनिक कानून 114-24 है जो देशों को सभी लड़कियों तथा लड़कों को जन्म प्रमाण-पत्र तथा अन्य आधिकारिक दस्तावेज़ उपलब्ध करवाना सुनिश्चित करने के लिए प्रोत्साहित करने को एक प्राथमिकता बनाता है।

लड़कियों की गणना संबंधी अधिनियम के बारे में और जानें

बच्चों के अधिकारों का समर्थन करना

लाइबेरिया के बच्चों से संबंधित कानून

Girl Up द्वारा वित्तपोषित Let Girls Lead के सदस्य के रूप में आयशा कूपर ब्रूस ने स्थानीय संगठनों के साथ वर्ष 2012 में लाइबेरिया के बच्चों के कानून को सफलतापूर्वक पारित करवाने का समर्थन किया और अब वह इसके कार्यान्वयन में सहयोग करने के लिए काम कर रही है।

बच्चों के लिए कानून लाइबेरिया के लिए आगे बढ़ने का एक बड़ा प्रयास बना। यह कानून बच्चों के अधिकार सुनिश्चित करता है जैसे स्वास्थ्य तथा शिक्षा का उनका अधिकार। यह लड़कियों को बाल विवाह से बचाने का भी प्रावधान करता है, और घरेलू उत्पीड़न की शिकार महिलाओं को अधिक सहयोग उपलब्ध कराता है।

आयशा Helping Our People Excel (HOPE) के लड़कियों के एक सशक्तिकरण कार्यक्रम Sisters With Power की कार्यक्रम निदेशक है और वह लाइबेरिया में बहुत सकारात्मक कार्य कर रही है।